Vedic Astrology  के अनुसार कैसे बनता है Love Marrige योग

Posted by

Vedic Astrology  के अनुसार कैसे बनता है Love Marrige योग

प्रेम  प्रत्येक  व्यक्ति का प्राकृतिक गुण है. प्रेम प्रत्येक के जीवन में महत्वपूर्ण स्थान रखता है. Vedic Astrology के अनुसार व्यक्ति की कुंडली में कुछ विशेष योग होने चाहिए. तभी व्यक्ति को Love में  सफलता  मिलती है. अथवा Love Marrige हो सकती है. इसी प्रकार प्रेम में  विफलता के लिए भी को कुछ योग बताये गए है.

‘Vedic Astrolog’ के अनुसार Love Marrige योग

आईये जानते है कोन से विशेष योग है जो व्यक्ति को प्रेम में  सफलता दिलाते है ? “Vedic Astrology”   के अनुसार  व्यक्ति के जीवन में  प्रेम की स्थिति पांचवें भाव  से व विवाह की सातवें भाव से देखी जाती है.  नौवें और ग्यारवें भाव का भी प्रेम विवाह में  महत्व है. शुक्र जीवन में प्रेम तथा विवाह  का कारक है. मंगल  का भी विशेष महत्व है.

पंचमेश तथा सप्तमेश से बनने वाले विशेष योग 

पंचमेश व सप्तमेश का योग,  यह योग यदि पंचम या सप्तम भाव में  हो तो योग और भी प्रबल होता है. यदि सप्तम भाव का स्वामी अपने ही भाव में  स्थित हो प्रबल हो.  Vedic Astrology   में  शनि और केतु पाप ग्रह माने जाने वाले ग्रह यदि सप्तम भाव में  युति में  हो तो भी Love Marrige की सम्भावना बनाते है.

 Vedic Astrology के अनुसार प्रेम विवाह और शुक्र की स्थिति

जैसा की आप जानते है   Vedic Astrology   में शुक्र  प्रेम और विवाह का कारक है. ऐसी स्थिति में कुंडली में  शुक्र की स्थिति विशेष योग बनाती है. यदि शुक्र अपनी राशि में  हो, मंगल एवं शुक्र  का योग पंचम और सप्तम भाव में  हो, शुक्र यदि लग्नेश के साथ लग्न में स्थित हो इस सभी स्थिति में प्रेम विवाह योग बनता है.

प्रेम विवाह मंगल एवं चंद्र की स्थिति 

पंचमेश एवं सप्तमेश के साथ चंद्र की युति किसी भी भाव में प्रेम विवाह योग बनती है, सप्तमेश और नवमेश के योग पर राहु तथा शनि की पूर्ण दृष्टि होने से भी प्रेम विवाह योग बनता है.

Vedic Astrology   में यदि Love Marrige या प्रेम में सफलता के योग है वहीँ प्रेम और Love Marrige के असफल होने के भी योग बताये गए है. सभी स्थितियां अनुकूल होने के बाद भी यदि शुक्र की स्थिति  अच्छी न हो, सप्तमेश पाप पीड़ित हो तो यह प्रेम और प्रेम विवाह में असफलता को दर्शाता है. शुक्र सूर्य के नक्षत्र में हो या सूर्य  एवं  चंद्र के बीच हो तो भी प्रेम में  असफलता मिलती है.

प्रेम और Love Marrige मे सफलता के उपाय 

शुक्र देव को प्रसन्न करने के लिए स्फटिक की माला या ब्रेसलेट पहने.

   शुक्रवार को सफ़ेद कपडे पहने.

   सफ़ेद रुमाल रखे.

   शुक्र के अन्य  उपाय —

   पंचमेश और सप्तमेश के उपाय करे.

    विवाह के बाद ब्लू टोपाज पहने किसी भी उपाय को करने से पूर्व अपनी कुंडली का अध्यन किसी अच्छे   Vedic Astrologer  से करवाएं.

अपनी कुंडली के अनुसार उपाय करे.

2 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *